eng
competition

Text Practice Mode

For upsssc (कविता)..

created Aug 6th 2016, 20:13 by सिरफिरा प्रतियोगी


4


Rating

134 words
63 completed
00:00
नन्ही चीटी जब दाना लेकर चलती है चढ़ती दीवारों पर, सौ बार फिसलती है मन का विश्वास रगों मे साहस भरता है चढ़कर गिरना गिरकर चढ़ना अखरता है आखिर उसकी मेहनत बेकार नहीं होती, कोशिश करने वालों की हार नहीं होती डुबकियां सिन्धु मे गोताखोर लगाता है, जा जा कर खाली हाथ लौटकर आता है मिलते नहीं सहज ही मोंती गहरे पानी में, बढ़ता दुगना उत्साह इसी हैरानी में मुट्ठी उसकी खाली हर बार नहीं होती, कोशिश करने वालों की हार नहीं होती असफलता एक चुनौती है इसे स्वीकार करो, क्या कमी रह गई, देखो और सुधार करो जब तक ना सफल हो, नींद चैन को त्यागो तुम, संघर्ष का मैदान छोड़कर मत भागो तुम. कुछ किए बिना ही जय जयकार नहीं होती, कोशिश करने वालों की हार नहीं होती।
डाॅo हरिवंशराय बच्चन

saving score / loading statistics ...