eng
competition

Text Practice Mode

ACADEMY FOR STENOGRAPHY, MORENA,DIR- BHADORIYA SIR TYPING MPHC DISTRICT COURT AG-3

created Sep 22nd, 11:47 by ThakurAnilSinghBhado


0


Rating

356 words
19 completed
00:00
कांग्रेस के अगले अध्‍यक्ष के चुनाव को लेकर पार्टी में काफी हलचल है। इस बीच सांसद शशि थरूर और राजस्‍थान सीएम अशोक गहलोत के बीच अध्‍यक्ष पद के लिए चुनाव की चर्चाएं काफी तेज हो गई हैं। वहीं, पार्टी के अंदर चल रही कलह भी अब खुलकर सामने गई है। कांग्रेस के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता गौरव वल्‍लभ ने अशोक गहलोत का जमकर समर्थन किया है, तो वहीं वह शशि थरूर पर जमकर बरसे हैं। उन्‍होंने एक के बाद एक कई ट्वीट करते हुए शशि थरूर को लेकर अपना विरोध जताया है। गौरव ने कहा कि सार्वजनिक चर्चाओं से जो दो नाम सामने रहे हैं, उनमें से किसी एक को चुनना हो तो कोई तुलना ही नहीं की जा सकती। उन्‍होंने कहा कि अशोक गहलोत का 45 साल का बेदाग राजनीतिक करियर रहा है, जबकि थरूर ने पार्टी कार्यकर्ताओं को सिर्फ पीढ़ा देने का काम किया है। कांग्रेस नेता ने एक ट्वीट में कहा, एक तरफ कार्यकर्ताओं जमीन से जुड़े हुए अशोक गहलोत जी हैं, जिन्‍हें 3 बार केंद्रीय मंत्री, 3 बार मुख्‍यमंत्री, 5 बार सांसद, 5 बार विधायक रहने का अनुभव हो, जिन्‍होंने सीधी टक्‍कर में मोदी-शाह को पटखनी दी हो, जिनका 45 वर्ष का निष्‍कलंक राजनीतिक जीवन हो। अगले ट्वीट में उन्‍होंने कहा कि दूसरी तरफ शशि थरूर साहब हैं, जिनका पिछले 8 सालों में पार्टी के लिए सिर्फ एक ही प्रमुख योगदान है कि उन्‍होंने कांग्रेस की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गाधी को तब चिट्ठियां भेजीं जब वह अस्‍पताल में भर्ती थीं। गौरव वल्‍लभ ने कहा कि शशि थरूर के इस कृत्‍य ने मेरे जैसे पार्टी के करोड़ों कार्यकर्ताओं को पीड़ा पहुंचाई। उन्‍होंने कहा कि ये ट्वीट पार्टी प्रवक्‍ता के तौर पर नहीं बल्कि एक कार्यकर्ता के रूप में हैं। पार्टी नेता ने कहा कि करोड़ों कार्यकर्ताओं की तरह उनकी भी इच्‍छा है कि राहुल गांधी ही पार्टी की कमान संभालें, लेकिन अगर वह अपने फैसले पर तटस्‍थ हैं और दो नाम सामने रहे हैं, उसमें से किसी एक को चुनना हो तो दोनों में कोई तुलना ही नहीं हो सकती है। चयन बहुत सरल और स्‍पष्‍ट है। बता दें कि कांग्रेस के अध्‍यक्ष पद के लिए अगले महीने चुनाव होना है

saving score / loading statistics ...