eng
competition

Text Practice Mode

SHREE BAGESHWAR ACADEMY TIKAMGARH (M.P.) Contact- 8103237478

created Saturday May 14, 02:45 by Shreebageshwar Academy


0


Rating

341 words
200 completed
00:00
बच्‍चों को कहानियां सुनना अच्‍छा लगता है। वे विशेष रूप से रात में सोने से ठीक पहले अपनी मां या पिता से एक कहानी सुनना पसंद करते हैं। बच्‍चों के लिए उनके सोते समय कहानियां पढ़ना उनके साथ समय बिताने और अपने बंधन को मजबूत करने का एक बहुत अच्‍छा तरीका हैं। कहानियां सुनने की आदत उन्‍हें भविष्‍य में किताबें पढ़ने के लिए प्रोत्‍साहित करती है। आपका अपने बच्‍चे के लिए किताब पढ़कर कहानी सुनाना उन्‍हें किताबों से प्रेम करना सिखाता है। इससे बच्‍चे की याददाश्‍त तेज होती है, उसकी भाषा में सुधार होता है और उसकी कल्‍पना शक्ति मजबूत होती है। यहां हम आपके बच्‍चों के लिए 15 ऐसी बेहतरीन, लोकप्रिय और रोचक कहानियां लाए हैं, जिन्‍हें सोते समय सुनने में उसे बहुत मजा आएगा। बच्‍चे हमेशा एक्टिव होते हैं, और कई उन्‍हें रात में सुलाना चैलेंजिंग हो सकता है। ऐसे में एक अच्‍छी कहानी आपकी मदद कर सकती है। जब आप उन्‍हें कहानी सुनाने का लालच देंगी तो वे झट से बिस्‍तर पर आने को तैयार हो जाएंगे और अगर कहानी मजेदार हो तो उसे सुनकर वे आपको बिना तंग किए सोने को भी तैयार हो जाएंगे। यह बेहद पुरानी और लोकप्रिय कहानियों में से एक है। एक बार एक बत्‍तख ने किसी किसान के खेत में 6 अंडे दिए। बत्‍तख के उन अंडों में कहीं से एक और अंडा जा मिला। बत्‍तख ने 7 अंडे देख तो सोचा कि शायद उससे गिनने में गलती हो गई थी और उसने सारे अंडे सेये। कुछ दिनों बाद 6 अंडों में से पीले रंग के चूजे निकल आए पर सातवें अंडे से निकला बच्‍चा दिखने में अलग-सा था। वह थोड़ा बड़ा और बेडौल भी था। उसके अजीब दिखने के कारण बाकी सभी चूजे उस पर हंसते थे। वे उसके साथ खेलना भी नहीं चाहते थे। जब उसने अपना प्रतिबिंब पानी में देखा तो बहुत दुखी हो गया। वह बाकियों जैसा नहीं था इसलिए खुद को बदसूरत समझकर वह उदास हो गया। उसके अलग रूप और बेढब चाल को देखकर बाकी पशु-पक्षी और किसान के बच्‍चे भी उसका मजाक उड़ाते थे।  

saving score / loading statistics ...