eng
competition

Text Practice Mode

टीकमगढ़ टाईपिंग में हैं प्रथम, अगर आपको भी अपना लेवल पता करना हैं तो आज ही हमारे म.प्र. हाईकोर्ट ग्रुप से जुड़े, अपना नाम व अपना सिटी का नाम इस नम्‍बर पर मैसेज करें- 8109957050

created Sep 14th, 10:12 by MP ALL EXAM TARGET


0


Rating

335 words
11 completed
00:00
टायपिंग में टीकमगढ़ वाले अच्‍छा कर रहे हैं अगर आपको भी अपना लेवल पता करना हैं तो आज ही हमारे म.प्र. हाईकोर्ट ग्रुप से जुड़े, अपना नाम अपना सिटी का नाम इस नम्‍बर पर मैसेज करें- 8109957050 भारतीय दंड संहिता 1860 के अध्याय 16 के अंतर्गत मानव शरीर पर प्रभाव डालने वाले अपराधों के संबंध में विस्‍तारर से प्रावधान किए गए। यदि महत्‍ता दृष्टि से देखा जाए तो भारतीय दंड संहिता का अध्‍याय 16 संपूर्ण दंड संहिता का हृदय मालूम होता है। यूं तो हर एक अपराध समाज के लिए घातक होता है तथा राज्‍य का यह कर्तव्‍य होता है कि वह किसी भी प्रकार के अपराध को करने वालों को दंडित करें परंतु भारतीय दंड संहिता के अध्‍याय 16 के अंतर्गत दिए गए मानव शरीर पर प्रभाव डालने वाले अपराध चिरकाल से महत्‍वपूर्ण अपराध रहे। वर्तमान परिक्षेप में राज्‍य का कर्तव्‍य कल्‍याणकारी राज्‍य की स्‍थापना करना है परंतु जिस समय से सत्‍ता और शासन अस्तित्‍व में आया उस समय से ही राज्‍य का यह कर्तव्‍य है कि वह अपने नागरिकों के जीवन की रक्षा करें, नागरिकों के शरीर संपत्ति और उनकी प्रतिष्‍ठा की रक्षा करना राज्‍य का परम कर्तव्‍य है। शरीर, संपत्ति, प्रतिष्‍ठा में सर्वोच्‍च स्‍थान शरीर का है क्‍योंकि जीवन से अधिक मूल्‍यवान कुछ भी नहीं है। जीवन सर्वोच्‍च है कोई भी विचार मानव जीवन को सर्वोच्‍च मानता है, इस धरती पर मनुष्‍य को सर्वोच्‍च प्राणी माना गया है तथा किसी दूसरे मनुष्‍य को किसी प्रकार से उपहति कारित करना दंडनीय अपराध है। प्रत्‍येक राज्‍य का यह कर्तव्‍य होता है कि वह अपने प्रत्‍येक नागरिक के शरीर की रक्षा करें। भारत के संविधान के अनुच्‍छेद 21 के अंतर्गत प्राण और दैहिक स्‍व्‍तंत्रता का उल्‍लेख किया गया है संविधान के इस अनुच्‍छेद के अंतर्गत किसी भी व्‍रूक्ति को प्राण और दैहिक स्‍वतंत्रता से विधि द्वारा स्‍थापित प्रक्रिया के बगैर वंचित नहीं किया जा सकता। यदि राज्‍य किसी व्‍यक्ति को प्राण दैहिक स्वतंत्रता से वंचित करता है तो इस प्रकार का वंचित किया जाना विधि द्वारा स्‍थापित प्रक्रिया से होना चाहिए  
अन्‍याय नहीं।
 

saving score / loading statistics ...