eng
competition

Text Practice Mode

म.प्र. हाईकोर्ट ग्रुप ज्‍वाईन करें आज ही अपना नाम व सिटी का नाम इस नम्‍बर पर करें- 8109957050

created Sep 14th, 04:14 by piyush jain


1


Rating

304 words
16 completed
00:00
सुप्रीम कोर्ट के सामने एक अनूठा मामला आया है। हत्या के एक मामले में दोषी घोषित हो चुके एक शख्स ने वारदात के 40 साल और दोषसिद्धि के 36 साल बाद अब खुद को नाबालिग बताते हुए सजा कम करने की अपील की है। उम्रकैद के सजायाफ्ता याचिकाकर्ता का कहना है कि वारदात के समय वह नाबालिग था और इसके चलते उसे अधिकतम 3 साल की सजा मिलनी चाहिए। 56 वर्षीय याचिकाकर्ता ने नाबालिग होने का दावा इलाहाबाद हाईकोर्ट में 35 साल बाद दोषसिद्धि के खिलाफ दायर अपनी अपील खारिज होने के बाद किया है। दोषी ठहराए जा चुके आरोपी ने इतने लंबे समय बाद अपने नाबालिग होने का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश के आधार पर उठाया है, जिसमें शीर्ष अदालत ने कहा था कि कोई भी आरोपी नाबालिग होने का मुद्दा किसी भी समय उठा सकता है। जैन क्लांसेस की तरफ से म.प्र. हाई कोर्ट का व्हाटसऐप टारगेट ग्रुप चलाया जा रहा है जिसके अंदर हमारे द्वारा सोमवार से शुक्रवार तक सुबह रात में 10 का कम्यू‍टर 10 की इंग्लिश का दोनों टाईम टेस्ट कराया जाता है फिर हर जिले के प्रतिभागियों का रिजल्टा डाला जाता है जिससे यह पता चल सके आपकी कितनी तैयार है हाईकोर्ट के लिए इसके बाद रात में लीगल मैटर की लिंक इंग्लिश हिंदी टाईपिंग के लिए दी जाती है फिर शनिवार को 50 नम्बर का टेस्ट होता है जिसमें इंग्लिश कम्यूटर आता है हाई लेवल का फिर रविवार को डिस्ट्रींक कोर्ट का 100 मार्क्स का टेस्ट  होता है इन सभी का बकायदा रिजल्ट‍ डाला जाता है टेस्ट के बाद अभी तक हमारे ग्रुप में 90 से ज्या्दा प्रतिभागी जुड़ चुके है हमारे ग्रुप में 02 डेज का डेमो दिया जाता है आज ही ग्रुप से जुड़ने के लिए अपना नाम सिटी का नाम इस नम्बर पर व्हाटसऐप करें- 8109957050              
 
 

saving score / loading statistics ...